» Guard Murder Case Midnight Jaunpur Police Performed Last Rites At Ramghat Directly From Post Mortem House – गार्ड की हत्या: आधी रात को पोस्टमार्टम हाउस से सीधे रामघाट पर पुलिस ने कराया अंतिम संस्कार, बेटे ने दी मुखाग्नि

  • Guard Murder Case Midnight Jaunpur Police Performed Last Rites At Ramghat Directly From Post Mortem House – गार्ड की हत्या: आधी रात को पोस्टमार्टम हाउस से सीधे रामघाट पर पुलिस ने कराया अंतिम संस्कार, बेटे ने दी मुखाग्नि
    • Uncategorized / By Saqibsyedd / No Comments / 1 Viewers

    [ad_1]

    अमर उजाला नेटवर्क, जौनपुर
    Published by: हरि User
    Updated Tue, 10 Aug 2021 11:25 AM IST

    सार

    जौनपुर में सोमवार को लूट की नीयत से बदमाशों ने एटीएम कैश वैन के गार्ड को गोली मारी थी। पत्नी ने कहा, आर्थिक स्थिति कमजोर होने से पति के शव को घर नहीं ला सकी। एनकाउंटर में बदमाशों के मारे जाने पर बोलीं – पुलिस ने अच्छा किया।
     

    गार्ड की हत्या के बाद गम में परिजन।
    – फोटो : अमर उजाला

    ख़बर सुनें

    उत्तर प्रदेश के जौनपुर जनपद में सोमवार और रविवार को गोलियों की तड़तड़ाहट गूंजती रही। एक ओर सोमवार को लूट की नीयत से बदमाशों ने एटीएम के कैश वैन के गार्ड की गोली मारकर हत्या कर दी थी। तो वहीं जवाबी कार्रवाई में दो बदमाश भी घायल हुए थे। इसी मामले में पुलिस ने 14 घंटे बाद गार्ड की हत्या के आरोपियों को मुठभेड़ में मार दिया। बदमाशों ने पुलिस पर भी फायरिंग की। गोली चलने से धनियामऊ बाजार और सिंगरामऊ क्षेत्र दहल गया। 

    वहीं दूसरी ओर गार्ड की पत्नी का कहना है कि उनकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है। इस वजह से पुलिस ने दवाब बनाया तो वह भी शव को घर न लाने पर राजी हो गईं। मड़ियाहूं कोतवाली क्षेत्र के बीरबलपुर निवासी गार्ड राम अवध चौबे की हत्या के बाद पुलिस ने उनका शव घर नहीं भेजा। पोस्टमार्टम हाउस से सीधे रामघाट ले जाकर अंतिम संस्कार करा दिया। गार्ड के 15 वर्षीय बेटे हरिओम ने पिता को मुखाग्नि दी। पोस्टमार्टम के बाद पत्नी पति के अंतिम दर्शन भी नहीं कर सकी। 
     
    परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर
    घटना के अनुसार, जौनपुर के बक्शा थाना क्षेत्र के धनियामऊ बाजार में सोमवार अपराह्न एजीएस कंपनी की कैश वैन इंडिया-वन एटीएम में पैसे डालने पहुंची थी। इस दौरान बदमाशों ने गोली मारकर गार्ड राम अवध चौबे की हत्या कर दी थी। राम अवध चौबे की पत्नी रंजू देवी का कहना है कि उनकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है। आरोप है कि पुलिस ने घटनास्थल से शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं आर्थिक स्थिति का हवाला देते हुए पुलिस ने दबाव बनाकर सोमवार की मध्य रात्रि ही पोस्टमार्टम हाउस से सीधे रामघाट ले जाकर शव का अंतिम संस्कार कराया।

    रामअवध चौबे की हत्या के 14 घंटे बाद पुलिस ने मुठभेड़ में दो आरोपियों को मार दिया। एसपी अजय साहनी के मुताबिक मंगलवार की सुबह साढ़े पांच बजे सिंगरामऊ थाना क्षेत्र के बहरा पीली नदी के समीप हाईवे और रेलवे क्रासिंग के बीच मुठभेड़ हुई। बदमाशों की पहचान अभिषेक गौतम निवासी सरोखनपुर थाना बदलापुर और नितिन मौर्य निवासी सिरकिना थाना सिंगरामऊ के रूप में हुई है। अमर उजाला के माध्यम से जब दोनों बदमाशों के एनकाउंटर की खबर गार्ड की पत्नी रंजू देवी को मिली तो उन्होंने कहा कि बदमाशों के मारे जाने से उनके कलेजे को ठंडक जरूर पहुंची है। लेकिन, आर्थिक स्थिति कमजोर होने के नाते शव को वह घर नहीं ला सकी। यह दुख भी दर्द दे रहा है।

    बीरबलपुर निवासी राम अवध चौबे को करीब एक एकड़ ही खेत है। परिवार के भरण-पोषण को आठ साल पहले गार्ड के तौर पर एजीएस कंपनी में नौकरी शुरू की थी।राम अवध अपनी दो संतानों में बड़ी बेटी 19 वर्षीय अंशिका की शादी कर चुके थे। वहीं 15 वर्षीय पुत्र हरिओम दसवीं कक्षा की पढ़ाई कर रहा है। उनकी हत्या की खबर आते ही घर पर कोहराम मच गया। मां विमला देवी व पत्नी रंजू देवी बेसुध हो जा रही थीं। घटना से पूरे गांव का माहौल गमगीन हो गया है। ढाढ़स बंधाने के लिए घर पर ग्रामीणों का तांता लगा है।

    इस संदर्भ में एएसपी सिटी डॉ. संजय कुमार का कहना है कि पुलिस पीड़ित परिवार की हर संभव मदद करेगा। आर्थिक सहयोग दिलाया जाएगा। पीड़ित परिवार पर किसी तरह का दवाब नहीं बनाया गया। गार्ड के बेटे ने ही शव को मुखाग्नि दी।

    विस्तार

    उत्तर प्रदेश के जौनपुर जनपद में सोमवार और रविवार को गोलियों की तड़तड़ाहट गूंजती रही। एक ओर सोमवार को लूट की नीयत से बदमाशों ने एटीएम के कैश वैन के गार्ड की गोली मारकर हत्या कर दी थी। तो वहीं जवाबी कार्रवाई में दो बदमाश भी घायल हुए थे। इसी मामले में पुलिस ने 14 घंटे बाद गार्ड की हत्या के आरोपियों को मुठभेड़ में मार दिया। बदमाशों ने पुलिस पर भी फायरिंग की। गोली चलने से धनियामऊ बाजार और सिंगरामऊ क्षेत्र दहल गया। 

    वहीं दूसरी ओर गार्ड की पत्नी का कहना है कि उनकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है। इस वजह से पुलिस ने दवाब बनाया तो वह भी शव को घर न लाने पर राजी हो गईं। मड़ियाहूं कोतवाली क्षेत्र के बीरबलपुर निवासी गार्ड राम अवध चौबे की हत्या के बाद पुलिस ने उनका शव घर नहीं भेजा। पोस्टमार्टम हाउस से सीधे रामघाट ले जाकर अंतिम संस्कार करा दिया। गार्ड के 15 वर्षीय बेटे हरिओम ने पिता को मुखाग्नि दी। पोस्टमार्टम के बाद पत्नी पति के अंतिम दर्शन भी नहीं कर सकी। 

     

    परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर

    घटना के अनुसार, जौनपुर के बक्शा थाना क्षेत्र के धनियामऊ बाजार में सोमवार अपराह्न एजीएस कंपनी की कैश वैन इंडिया-वन एटीएम में पैसे डालने पहुंची थी। इस दौरान बदमाशों ने गोली मारकर गार्ड राम अवध चौबे की हत्या कर दी थी। राम अवध चौबे की पत्नी रंजू देवी का कहना है कि उनकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है। आरोप है कि पुलिस ने घटनास्थल से शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं आर्थिक स्थिति का हवाला देते हुए पुलिस ने दबाव बनाकर सोमवार की मध्य रात्रि ही पोस्टमार्टम हाउस से सीधे रामघाट ले जाकर शव का अंतिम संस्कार कराया।


    आगे पढ़ें

    बदमाशों के मारे जाने से कलेजे को पहुंची ठंडक 

    [ad_2]

    Source link

    About thr author : Saqibsyedd

    leave a comment

      Your email address will not be published. Required fields are marked *

    • You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>