Tajiyadar Clashed With Police In Bakarganj For Seizing Dj, Outpost Surrounded – बरेलीः डीजे जब्त करने पर बाकरगंज में पुलिस से भिड़े ताजियेदार, चौकी घेरी

[ad_1]

नाराज ताजिएदारों को समझाती पुलिस।
– फोटो : अमर उजाला ब्यूरो, बरेली

ख़बर सुनें

चौकी इंचार्ज ने कमरा बंद कर खुद को बचाया, कई थानों की पुलिस लेकर पहुंचे सीओ
ताजिएदारों का आरोप- नशे में धुत पुलिसकर्मियों ने ताजिए में तोड़फोड़ और महिलाओं से अभद्रता की

बरेली। बाकरगंज में बृहस्पतिवार देर रात डीजे जब्त करने को लेकर पुलिस और ताजियेदारों में विवाद हो गया। इसके बाद लोगों ने पुलिस पर ताजिए में तोड़फोड़ और महिलाओं से अभद्रता करने का आरोप लगाकर बाकरगंज चौकी का घेराव कर हंगामा शुरू कर दिया। भीड़ के गुस्से को देखकर चौकी इंचार्ज नेे खुद को कमरे में बंद कर लिया। विवाद की सूचना पर कई थानों की पुलिस के साथ ही सीओ मौके पर पहुंच गए और डीजे वापस करके मामला रफा दफा कराया। माहौल की संवेदनशीलता को देखते हुए रात भर वहां फोर्स तैनात रही।
बृहस्पतिवार रात करीब डेढ़ बजे बाकरगंज में झब्बू की टाल के पास एक घर के बाहर ताजिया रखा था। वहां रहने वाली सना और उजमा ने बताया कि इसी बीच दो बाइक पर एक दरोगा और कुछ पुलिसकर्मी वहां पहुंचे। वे लोग गाली-गलौज कर घर के बाहर बैठे लोगों से अभद्रता करने लगे। गली में बैठे आकिल से मारपीट की और डीजे जब्त कर लिया। उन लोगों ने विरोध किया तो ताजिए पर डंडे बरसाकर उसमें तोड़फोड़ कर दी। उसका सहरा भी जमीन पर फेेंक दिया। सना छत पर चढ़कर घटना का वीडियो बनाने लगीं तो पुलिसकर्मी ने उनसे मोबाइल छीनने की कोशिश की। शोर मचाने पर वहां भीड़ जुटने लगी तो पुलिसकर्मी गालीगलौज करते हुए चले गए।

चौकी इंचार्ज और चीता मोबाइल के सिपाहियों पर कार्रवाई की मांग

घटना से गुस्साए लोगों ने कुछ ही देर बाद बाकरगंज चौकी का घेराव कर लिया और हंगामा करके नारेबाजी करने लगे। माहौल बिगड़ते देख चौकी इंचार्ज बृजपाल सिंह ने खुद को कमरे में बंद कर लिया और अधिकारियों को सूचना दी। कुछ ही देर बाद सीओ द्वितीय आशीष प्रताप सिंह और किला, सुभाषनगर तथा सीबीगंज थाने की पुलिस मौके पर पहुंच गई। सीओ ने लोगों को समझाने का प्रयास किया लेकिन वे चौकी इंचार्ज और चीता मोबाइल के दोनों सिपाहियों पर कार्रवाई की मांग करने लगे। उनका कहना था कि पुलिसकर्मी नशेे में धुत थे। सीओ ने किसी तरह लोगों को समझाकर शांत किया और डीजे वापस करा दिया।

वीडियो में कैद है पूरी घटना

सना ने बताया कि पुलिस की अभद्रता की पूरी घटना का उन्होंने मोबाइल से वीडियो बना लिया है। आरोप लगाया कि जब वह वीडियो बनाने के लिए छत पर चढ़ीं तो पुलिस ने उनसे मोबाइल छीनने की कोशिश की लेकिन पूरी घटना की उन्होंने वीडियो बना ली है।

खानकाह नियाजिया से पहुंचे शब्बू मियां

विवाद की सूचना पर रात करीब ढाई बजे खानकाह नियाजिया के प्रबंधक शब्बू मियां नियाजी मौके पर पहुंचे। उन्होंने लोगों से शांत रहने की अपील की और घर जाने को कहा। खानकाह से पहुंचे अन्य लोगों ने भी पुलिस का लाउड हेलर लेकर लोगाें से घर जाने की अपील की, तब जाकर मामला शांत हुआ। मगर माहौल की संवेदनशीलता को देखते हुए वहां रात भर फोर्स तैनात रही।

चौकी इंचार्ज ने कमरा बंद कर खुद को बचाया, कई थानों की पुलिस लेकर पहुंचे सीओ

ताजिएदारों का आरोप- नशे में धुत पुलिसकर्मियों ने ताजिए में तोड़फोड़ और महिलाओं से अभद्रता की

बरेली। बाकरगंज में बृहस्पतिवार देर रात डीजे जब्त करने को लेकर पुलिस और ताजियेदारों में विवाद हो गया। इसके बाद लोगों ने पुलिस पर ताजिए में तोड़फोड़ और महिलाओं से अभद्रता करने का आरोप लगाकर बाकरगंज चौकी का घेराव कर हंगामा शुरू कर दिया। भीड़ के गुस्से को देखकर चौकी इंचार्ज नेे खुद को कमरे में बंद कर लिया। विवाद की सूचना पर कई थानों की पुलिस के साथ ही सीओ मौके पर पहुंच गए और डीजे वापस करके मामला रफा दफा कराया। माहौल की संवेदनशीलता को देखते हुए रात भर वहां फोर्स तैनात रही।

बृहस्पतिवार रात करीब डेढ़ बजे बाकरगंज में झब्बू की टाल के पास एक घर के बाहर ताजिया रखा था। वहां रहने वाली सना और उजमा ने बताया कि इसी बीच दो बाइक पर एक दरोगा और कुछ पुलिसकर्मी वहां पहुंचे। वे लोग गाली-गलौज कर घर के बाहर बैठे लोगों से अभद्रता करने लगे। गली में बैठे आकिल से मारपीट की और डीजे जब्त कर लिया। उन लोगों ने विरोध किया तो ताजिए पर डंडे बरसाकर उसमें तोड़फोड़ कर दी। उसका सहरा भी जमीन पर फेेंक दिया। सना छत पर चढ़कर घटना का वीडियो बनाने लगीं तो पुलिसकर्मी ने उनसे मोबाइल छीनने की कोशिश की। शोर मचाने पर वहां भीड़ जुटने लगी तो पुलिसकर्मी गालीगलौज करते हुए चले गए।

चौकी इंचार्ज और चीता मोबाइल के सिपाहियों पर कार्रवाई की मांग

घटना से गुस्साए लोगों ने कुछ ही देर बाद बाकरगंज चौकी का घेराव कर लिया और हंगामा करके नारेबाजी करने लगे। माहौल बिगड़ते देख चौकी इंचार्ज बृजपाल सिंह ने खुद को कमरे में बंद कर लिया और अधिकारियों को सूचना दी। कुछ ही देर बाद सीओ द्वितीय आशीष प्रताप सिंह और किला, सुभाषनगर तथा सीबीगंज थाने की पुलिस मौके पर पहुंच गई। सीओ ने लोगों को समझाने का प्रयास किया लेकिन वे चौकी इंचार्ज और चीता मोबाइल के दोनों सिपाहियों पर कार्रवाई की मांग करने लगे। उनका कहना था कि पुलिसकर्मी नशेे में धुत थे। सीओ ने किसी तरह लोगों को समझाकर शांत किया और डीजे वापस करा दिया।

वीडियो में कैद है पूरी घटना

सना ने बताया कि पुलिस की अभद्रता की पूरी घटना का उन्होंने मोबाइल से वीडियो बना लिया है। आरोप लगाया कि जब वह वीडियो बनाने के लिए छत पर चढ़ीं तो पुलिस ने उनसे मोबाइल छीनने की कोशिश की लेकिन पूरी घटना की उन्होंने वीडियो बना ली है।

खानकाह नियाजिया से पहुंचे शब्बू मियां

विवाद की सूचना पर रात करीब ढाई बजे खानकाह नियाजिया के प्रबंधक शब्बू मियां नियाजी मौके पर पहुंचे। उन्होंने लोगों से शांत रहने की अपील की और घर जाने को कहा। खानकाह से पहुंचे अन्य लोगों ने भी पुलिस का लाउड हेलर लेकर लोगाें से घर जाने की अपील की, तब जाकर मामला शांत हुआ। मगर माहौल की संवेदनशीलता को देखते हुए वहां रात भर फोर्स तैनात रही।

ताजिया पर डंडा मारने या महिलाओं से अभद्रता के आरोप निराधार हैं। डीजे जब्त करने पर लोग आक्रोशित हो गए थे। उन्हें समझाकर शांत कर दिया और डीजे वापस कर दिया गया। – आशीष प्रताप सिंह, सीओ द्वितीय

[ad_2]

Source link

Reply